टू फिंगर टेस्ट क्या होता है और टू फिंगर टेस्ट कैसे किया जाता है | Two Finger Test in Hindi

 

two fingure test kya hota hai

अभी हाल ही मैं सुप्रीम कोर्ट ने टू फिंगर टेस्ट को बैन कर दिया है। आईए आज हम जानते हैं की टू फिंगर टेस्ट क्या होता है और टू फिंगर टेस्ट क्यों किया जाता था।


टू फिंगर टेस्ट क्या होता है - What is Two Finger Test in Hindi

टू फिंगर टेस्ट दो चीजों को पता करने के लिए किया जाता है। 
 
पहला यह पता करने के लिए की क्या लड़की वर्जिन है या नहीं और दूसरा यह पता करने के लिए की लड़की ने पहले कभी संबंध बनाएं हैं या नहीं।
 
यह टेस्ट अधिकतर रेप पीड़िता का किया जाता था। इसमें रेप पीड़िता के जननांगों में दो फिंगर डाल कर देखा जाता था। 
 
अगर दोनों फिंगर आसानी से चली जाती हैं तो इसका मतलब है की लड़की ने पहले भी संबंध बनाए हैं। 
 
यदि फिंगर आसानी से नहीं जाती तो लड़की वर्जिन है। यह टेस्ट बहुत ही अपमानजनक और मानसिक पीड़ा देने वाला होता है।
 
इसमें लड़की की हाइमन झिल्ली की भी जांच की जाती है। 
 
हालंकि इस टेस्ट पर पहले से बहुत से ऑब्जेक्शन लगाए जा चुके थे क्योंकि वैज्ञानिक तौर पर आप इस तरह से किसी की वर्जिनिटी का पता नहीं लगा सकते। 
 
कानूनी मामलों में अभी तक इस टेस्ट की स्वीकार्यता थी और इस टेस्ट में बहुत सी कमियां थीं जो हमेशा रेप पीड़िता के विरूद्ध जाती थी। 
 
सुप्रीम कोर्ट ने अब न्यायिक मामलों में इस टेस्ट को अमान्य घोषित कर दिया है।
 
 
👇👇👇

Lav Tripathi

Lav Tripathi is the co-founder of Bretlyzer Healthcare & www.capejasmine.org He is a full-time blogger, trader, and Online marketing expert for the last 10 years. His passion for blogging and content marketing helps people to grow their businesses.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने