क्या होगा अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे

यदि धरती घूमना बंद कर दे तो क्या होगा

 

यह सभी को पता है की धरती अपने अक्ष पर घूमती है जिसके कारण दिन और रात होते हैं और इसके साथ ही धरती सूर्य के चारों ओर चक्कर भी लगाती है और जब धरती सूर्य के चारों ओर एक चक्कर लगा लेती है तो उसे हम एक साल कहते हैं। 

क्या होगा अगर पृथ्वी घूमना बंद कर दे और सूर्य के चारों ओर घूमना जारी रखे तो क्या होगा। आईए समझते हैं

 

क्या होगा अगर धरती अपनी अक्ष पर घूमना बंद कर दे

अगर धरती अपने अक्ष पर घूमना बंद कर दे लेकिन सूर्य के चक्कर लगाना जारी रखे तो इस स्थिति में धरती के आधे भाग में हमेशा के लिए दिन रहेगा और आधे भाग में हमेशा के लिए रात। 
 
यह स्थिति धरती में जीवन के लिए सबसे खराब होगी। 
 
धरती को जो भाग सूर्य की तरफ होगा वहां लगातार 120°C का तापमान रहेगा और जो भाग अंधेरे में रहेगा वहां का तापमान -120°C होगा। 
 
आधे भाग का समुंद्र जम जाएगा और आधे भाग का समुद्र का पानी उबलने लगेगा। 
 
इस कारण पृथ्वी के अंदर एक लंबी सी लाईन बन जायेगी जिसके एक तरफ बहुत ठंडी होगी और दूसरी तरफ बहुत ही गर्मी। 
 
पृथ्वी का पूरा जीवन इसी लाईन के आस पास आकर सिमट जाएगा। 
 
पृथ्वी के सारे जीव जन्तु इसी लाईन के आस पास आकर रहने लगेंगे क्युकी यहां का तापमान जीवन के अनुकूल होगा।
 
तापमान में इतने अधिक अंतर होने के कारण धरती पर लगातार तूफान आएंगे जिनकी गति 1,000 मील प्रति घंटा होगी। 
 
धरती के अपने अक्ष पर घूमने के कारण ही धरती का चुंबकीय क्षेत्र उत्पन्न होता है। 
 
यदि धरती घूमना बंद कर देगी तो धरती का चुंबकीय क्षेत्र खत्म हो जाएगा और सूर्य से आने वाला खतरनाक रेडिएशन धरती पर जीवन को संकट में डाल देगा। 
 
पृथ्वी पर रहना असंभव हो जाएगा और बहुत ही कम जीव बचेंगे। 90% से अधिक जीव जन्तु और पौधे खत्म हो जाएंगे। 

हमारा प्रश्र था की क्या होगा अगर धरती अपने अक्ष पर घूमना बंद कर दे लेकिन इसकी जगह यह प्रश्न हो की धरती अचानक से अपनी कक्षा में घूमना बंद कर दे तो इसका प्रभाव बहुत ही विनाशकारी होगा। 
 
आप बहुत ही तेज गति (1670 km/h) से उड़ते हुए आस-पास की किसी वस्तु से टकरा कर खत्म हो जाएंगे। 
 
समुंद्र में 100 किलोमीटर से भी ऊपर की सुनामी आ जायेगी और पूरी दुनियां के सागर का पानी पूरी धरती पर फैल जाएगा। 
 
पहाड़ अपनी जगह से उखड़कर कर कहीं दूर पड़े होंगे। पृथ्वी का 99% जीवन तुरंत खत्म हो जाएगा। 
 
जो लोग अंतरिक्ष में होंगे उनके लिए भले ही बचने की संभावना हो सकती है लेकिन पृथ्वी पर वापस आने के बाद उनके स्वागत के लिए कोई इंसान या जीव बचा नहीं होगा
 
सब कुछ तबाह हो जाने के बाद सूरज एक ही जगह पर स्थिर दिखेगा क्योंकि पृथ्वी तो घूम ही नहीं रही है, इस वजह से एक दिन 24 घंटे की जगह 365 दिन का हो जाएगा। 
 
 
 
👇👇👇

Lav Tripathi

Lav Tripathi is the co-founder of Bretlyzer Healthcare & www.capejasmine.org He is a full-time blogger, trader, and Online marketing expert for the last 10 years. His passion for blogging and content marketing helps people to grow their businesses.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने